Behakti ye nazar – Hindi Poem On Love

बहकती ये नज़र अब किसे बह्काएगी
तेरी याद की ये तड़प अब और कितना तडपाएगी
तेरे लब पर खिलती हुई जब एक हंसी आयेगी
प्या बताऊँ देख के तुझे ज़ालिम जान ये मेरी जाएगी
बादलों से तेज़ बरसात होगी
जब अपनी मीठी मुलाकात होगी
इस तड़पते दिल को जोर से तब धडकाएगी
जब सब तूफ़ान को चीर कर पास तू मेरे आयेगी

How to read:
Bahkati ye nazar ab kise bhkayengi
Teri yaad ki ye tadap ab aur kitna tadpayegi
Tere lab par khilti hue jab ek hansi aayegi
Kya btaun dekh ke tujhe jalim jaan ye meri jayegi
Badlo se tez barsaat hogi
Jab apni mithi mulakaat hogi
Es tadpte dil ko jaur se tab dhdkayegi
jab sab tufaan ko cheer kar paas tu mere aayegi

Seekha hai tumse – Hindi Poem

तेज़ दर्द में भी मुस्कुराना सीखा है तुमसे
डगमगाती कश्ती में न थरथराना सीखा है तुमसे
यूँ तो लोग बहादुर कहलाते है जंग लड़के लेकिन
ज़िन्दगी की जंग को लड़ते जाना सीखा है तुमसे
चाहे हो छाए काले बदल या हो छाया घोर अँधेरा
तुमको तो दिख जाता था दूर कही उगता सूरज
क्या कहना तुम्हारे साहस का क्या कहना तुम्हारा धीरज का
तुम्हारा वो मुस्कुरा कर सह लेना चाहे जो हो संकट
सलाम है तुमको चाहे आज तुम मेरे साथ नहीं
दिल में मेरे जीती रहोगी हमेशा जैसे जीती हो आज अभी

I am here again – Poem

I am here again with some thoughts in my mind to say
My lines may not rhyme but may rhyme too in some way
The sun is shining bright today in the sky so high
The poor moon looks at it in the morning with a sigh
Birds are chirping loudly in the greens
Farmers are looking eagerly for the rains
There are hopes and excitement in the young hearts
Rush is about to begin in the shopping marts
I may have not sounded very poetic I know
But that is all I could write what to do!

 

Just don’t give up – Poem

When the sky is red and the earth is blue
When things seem wrong from head to toe
When life gives you just another blow
Just don’t give up
When you need it fast but its too slow
When you are stopped and you want to go
When you want a cake but there is no dough
Just don’t give up
The night seems long, but the day shall show
Life is a pain, but it has to go
Day is bad today but not in a row
Just don’t give up

Holi Hai Bhai Holi Hai – Hindi Kavita

होली है भाई होली है
रंगों की रंगोली हैं
कहीं पकवान मिठाई है
कहीं रंगों की सगाई है
सब तरफ मस्ती सी चाई है
होली खुशियाँ संग लायी है
कोई है हरा कोई नीला है कोई लाल
होली के रंगों में हैं सब खुशहाल
हमको भी होली है खूब भाई
आप को भी होली की बहुत बधाई

Maa – Hindi Poem on Mother

सबसे सुन्दर जग में कौन?
बस एक तू है माँ
सबसे प्यारी किसकी मुस्कान?
बस एक तेरी ही है माँ
किस ने बनायीं मेरी पहचान?
तूने ही तो मेरी प्यारी माँ
किसकी बोली मिश्री से मीठी
तेरी ही है मेरी माँ
किसकी डांट है इमली से तीखी
तेरी ही तो प्यारी माँ
किसके लिए करूँ मैं सब कुर्बान
तेरे लिए मेरी प्यारी माँ

Hum Panchi Hain Neel Gagan Ke – Hindi Poem

हम पंछी हैं नील गगन के

हमको तुम अब उड़ने दो
खुले आकाश में पतंगों जैसे
ऊंचाइयों को तुम छूने दो

Image

हमको पिंजरों में न पकड़ो
हमारे पंखों को मत जकड़ो
हमको भी जीने दो कुछ जीवन
जिसमें हो कुछ भीगा सावन
हमको रहने दो तुम आज़ाद
बस इतनी सी हैं फरियाद

Likhna acha hai – Hindi Poem

जब लफ्ज़ ही बन जायें जुबां लिखना अच्छा है
जब हो दिल को छू जाने का अरमान लिखना अच्छा है
जब हो मन चलाने का शब्दों की तलवार लिखना अच्छा है
जब हो अरमान होने का उस पार लिखना अच्छा है
जब हो जाना बहुत दूर पर हो बस कलम की आस लिखना अच्छा है
जब हो बुलंद इरादे और खुद पर भी विशवास लिखना अच्छा है

Kahin wo to nahin – Hindi Poem

वो जो पलक झपकते ही गुज़र जाता है
एक लम्हा तो नहीं ?
वो जो खुशबु से सबको महकाता है
एक गुलाब का फूल तो नहीं?
वो जो होठो पर आकर खिल जाती है
एक मुस्कराहट तो नहीं?
वो जो अच्छे अच्छों को तड़पाती है
एक जुदाई की रात तो नहीं?
वो जो बार बार आती है
किसी की याद तो याद तो नहीं?
वो जो दिल से कभी न जाती है
किसी की फरियाद तो नहीं?
वो जो लब पर आकार ठहर जाती है
कोई अनकही बात तो नहीं?
वो जो सबको रोज़ जगाती है
कोई बुलंद आवाज़ तो नहीं?
और वो जो कविता लिखाते हैं
कोई छुपे हुए अरमान तो नहीं?

Hindi Poem -Valentines Day

फ़रवरी का महीना आया
वैलेंटाइन की खुशियाँ लाया
प्यार के लाल फूल खिलेंगे
जवान दिल सब यु मिलेंगे
कुछ करेंगे कुछ को प्रोपोज़ जनाब
लेकर हाथो में लाल गुलाब
कुछ जायेंगे करने घुमन घूम
लेकर हाथो में हाथ झूम
हमने भी सोचा है इस वैलेंटाइन
करदें किसी को प्रोपोज़  -विल यू बी माइन