Hum Panchi Hain Neel Gagan Ke – Hindi Poem

हम पंछी हैं नील गगन के

हमको तुम अब उड़ने दो
खुले आकाश में पतंगों जैसे
ऊंचाइयों को तुम छूने दो

Image

हमको पिंजरों में न पकड़ो
हमारे पंखों को मत जकड़ो
हमको भी जीने दो कुछ जीवन
जिसमें हो कुछ भीगा सावन
हमको रहने दो तुम आज़ाद
बस इतनी सी हैं फरियाद
Advertisements

Leave a Comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s