Hindi Poem – Lohri

भरी सर्दी में है यह लोहड़ी आई
दुआ है यह लोहड़ी खुशियाँ बांटने आई
खाने को मिलते हैं फुल्ले, मूंगफली और रेवड़ी
साथ में सेकने को मिलती है गरम गरम लकड़ी
हमने भी है लोहड़ी अपनों संग मनाई
आप सभी को हो लोहड़ी की लाखों बधाई

Advertisements